Posted in: News

आधारित आवश्यकताओं के लिए पर्सनल लोन का सही चयन”

पैसे की जरूरत होने पर हम अक्सर किसी रिश्तेदार या दोस्तों से पैसे उधार लेते हैं। लेकिन हर बार वे आपकी मदद करने में सक्षम नहीं हो सकते हैं। ऐसे में लोन एक कारगर तरीका हो सकता है। वैसे तो लोन कई प्रकार के होते हैं जैसे कि होम लोन, कार लोन, पर्सनल लोन वगैरह. उनमें से पर्सनल लोन सबसे लोकप्रिय विकल्प है।

पर्सनल लोन लेने की सबसे बड़ी वजह है इसका आसानी से मिल जाना. क्योंकि पर्सनल लोन के लिए बैंक के पास कोई चीज़ गिरवी नहीं रखनी पड़ती और कागजी कार्रवाई भी ज्‍यादा नहीं होती है. लेकिन आसानी से मिलने वाला यह लोन कई लोगों के लिए मुसीबतें खड़ी कर देता है. कभी-कभी, उधारकर्ता ऋण की शर्तों को समझने के लिए प्रयास नहीं करते हैं और आवश्यकता के समय ऋण जारी रखते हैं। ऐसे मामलों में, छिपे हुए शुल्क और कठोर ऋण खंड व्यक्ति को वित्तीय संकट में डाल सकते हैं।

आज हम इस लेख में आपको सिसिलेवार तरीके से बताएंगे कि पर्सनल लोन अप्लाई करने से पहले किन खास बातों का ध्यान रखना चाहिए, क्या-क्या जांच पड़ताल करनी चाहिए, ताकि आप ठगे न जाएं. साथ ही, लोन आसानी से और तुरंत मिल जाए.

आपको लोन लेने की ज़रूरत क्यों है:

सबसे पहले सोचें कि आपको लोन किस काम को पूरा करने या किस ज़रूरत के लिए चाहिए. क्‍योंकि कोई आपको फ्री में लोन नहीं देगा. सबसे पहले तो इसकी  प्रोसेसिंग फ़ीस देनी होगी फिर इसकी ब्याज़ के साथ हर महीने किश्तें भी चुकानी होंगी. इसलिए, पर्सनल लोन के लिए अप्लाई करने से पहले अच्छे से सोच-विचार कर लें कि आपको लोन की ज़रूरत है भी या नहीं. 

Read this also: आधार कार्ड से लोन कैसे ले

लोन से जुड़ी जानकारी जुटाएं:

करीब-करीब सभी बैंकों और संस्थाओं के पर्सनल लोन देने के नियम और शर्तें अलग-अलग होती हैं. आपको लोन आपकी हर महीने की आमदनी, उम्र और क्रेडिट स्कोर को देखकर ही मिलेगा, इसलिए जिस जगह से आपको लोन लेना हो उसके बारे में पूरी जानकारी जुटा लें और किसी अज्ञात और अवैध कंपनी के जंजाल में न फंसें.

पर्सनल लोन के लिए जरूरी दस्तावेज इकट्ठा करें:

आमतौर पर सैलरी वाले और अपना कारोबार करने वाले लोगों के लिए पर्सनल लोन के मामले में पात्रता और दस्तावेजों की जरूरत थोड़ी अलग-अलग होती है। जैसे, सैलरी वालों के लिए सैलरी स्लिप, टैक्स रिटर्न, वेतनभोगी आवेदकों के लिए फॉर्म 16 की ज़रूरत होती है. कारोबार करने वालों के लिए के लिए आय के दस्तावेज जैसे टैक्स रिटर्न, बैंक स्टेटमेंट और बिजनेस इनकम प्रूफ की ज़रूरत होती है. इसलिए आप जो भी काम करते हैं पर्सनल लोन लेने से पहले सभी दस्तावेज़ इक्ट्ठा कर लें ताकि बाद में किसी भी तरह की परेशानी न उठानी पड़े. 

अपना क्रेडिट स्कोर बेहतर करें:

आम तौर पर बैंक उन लोगों को सस्ती दरों पर लोन देते हैं जिनका सिबिल या क्रेडिट स्कोर अच्छा होता है. इसलिए अगर आपने कोई चीज़ फाइनेंस की हुई है या कोई दूसरा लोन किया हुआ है, तो उसकी किश्त समय से चुकाएं. इससे आपका क्रेडिट स्कोर अच्छा रहेगा. कई बार कम क्रेडिट स्‍कोर को देखकर बैंक पर्सनल लोन देते ही नहीं हैं. 

एक्स्ट्रा चार्ज के बारे में पता करें:

आजकल पर्सनल लोन लेने पर बहुत से बैंक ब्याज़ और ईएमआई के अलावा अन्‍य चार्जेज भी वसूलते हैं. इसलिए लोन लेने से पहले सभी चार्जेस के बारे में पता कर लें. अगर आप ब्‍याज़ और ईएमआई मानकर ही लोन ले लेंगे, तो हो सकता है कि आपको ज़्यादा लोन राशि चुकानी पड़े.

उपरोक्त युक्तियों का पालन करके, आप यह सुनिश्चित कर सकते हैं कि आपको सस्ती दरों पर ऋण मिले और आप अपने वित्त को अच्छी तरह से प्रबंधित कर सकें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to Top